5x0bjT_m3kQ/s484/BBLM%2B3D.png" height="70px" width="200px"/>
function random_imglink(){ var myimages=new Array() myimages[1]="http://www.blogprahari.com/themes/default/imgs/ads/hosting-b22.jpg" myimages[2]="http://www.blogprahari.com/themes/default/imgs/ads/hosting-b22.jpg" var imagelinks=new Array() imagelinks[1]="http://domain.mediaprahari.com/" imagelinks[2]="http://mediaprahari.com/" var ry=Math.floor(Math.random()*myimages.length) if (ry==0) ry=1 document.write('') } random_imglink() Random Advertise by Blogprahari ---->

Check Page Rank of your Web site pages instantly:

This page rank checking tool is powered by Page Rank Checker service

style="border:none" src="http://www.searchenginegenie.com/widget/seo_widget.php?url=http://ghazalkenam.blogspot.com" alt="Search Engine Promotion Widget" />
www.apnivani.com ...

रविवार, 4 जुलाई 2010

ख़ुदकुशी

इश्क़ भी इक ख़ुदकुशी है , ज़िन्दगी से दुश्मनी है।
वो बडी मासूम है पर , मुझको पागल कर चुकी है।
छात्र हूं मैं वो गुरू है , उसके हाथों में छड़ी है।
नींद से महरूम हूं मैं , सारी दुनिया सो रही है ।
मै पतन्गा फ़िर जलूंगा , शमा की महफ़िल सजी है।
क़त्ल दिल का हो चुका है,पीठ पीछे वो खडी है ।
रुकना क़िस्मत मे नहीं है, ज़िन्दगी गोया नदी है।
मैं चराग़ों का सफ़र हूं ,तू हवाओं की गली है।
चांदनी जब से ख़फ़ा है , जुगनुओं से दोस्ती है।
उड़ चुके हैं होश कूछ यूं , चाल में आवारगी है।
ज़िन्दगी आखिर है क्या बस, बेबसी ही बेबसी है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें